DELHI

HindustanVision Saturday,02 June , 2018)
कैराना के नतीजे से चिंता में भाजपा, अब इस तरह विपक्षी एकजुटता को मिल सकता है जवाब

New Delhi News, 02 June  2018 ; ​ गोरखपुर-फूलपुर के बाद कैराना में विपक्षी एकता के सामने पस्त भाजपा मंथन में जुट गई है। चौतरफा कवायद में जहां जनसंपर्क अभियान और तेज होगा, वहीं यह मानकर चला जा रहा है कि मतदान फीसद बढ़ाने के लिए बूथ प्रबंधन भी फोकस में होगा।

गुरुवार को 10 विधानसभा और चार संसदीय सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे भाजपा के लिए झटके से कम नहीं हैं। कर्नाटक में भाजपा बहुमत और सत्ता से चूक गई। उससे पहले राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के उपचुनाव परेशान करने वाले थे। गुरुवार को आए नतीजों में भी भाजपा तीन संसदीय और विधानसभा सीटें गंवा चुकी है। खासकर कैराना की हार ने विपक्षी एकता को बल दे दिया है।

हालांकि भाजपा अभी भी यह मानने को तैयार नहीं है कि प्रभावी विपक्षी एकजुटता आकार ले पाएगी, लेकिन यह भी स्पष्ट हो गया है कि आगामी लड़ाई के लिए विशेष प्रबंध करना होगा। गुरुवार को भी भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के बीच इस मुद्दे पर चर्चा हुई। सूत्र बताते हैं कि भाजपा नेतृत्व अपने समर्थकों में वोटिंग को लेकर उत्साह की कमी से चिंतित है।मालूम हो कि कैराना में वोटिंग फीसद अच्छा नहीं रहा। लगभग छह दर्जन बूथों पर पुनर्मतदान के बावजूद वहां लगभग 62 फीसद ही मतदान हुआ। जाहिर है कि भाजपा के वोटर जमकर नहीं निकले। ध्यान रहे कि विपक्षी एकता की कवायद के बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बार-बार 50 फीसद वोट की तैयारी करने की बात कर रहे हैं। 2014 के बाद से अधिकतर राज्यों में बूथ प्रबंधन और पन्ना प्रमुखों की रणनीति कामयाब दिखी थी। पिछले कुछ चुनावों में वह कमजोर दिख रही है।यही कारण है पिछले साल राजस्थान के संसदीय उपचुनाव में कुछ ऐसे बूथ भी दिखे थे जहां भाजपा को एक भी वोट नहीं मिला था। शाह नीचे के स्तर पर इन कमजोरियों को लेकर खासे नाराज बताए जा रहे हैं। यूं तो जमीन तक पहुंचने के लिए भाजपा ने पहले ही केंद्र सरकार की सात योजनाओं को घर-घर पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। इसी बहाने उन 22 करोड़ परिवारों के बीच भाजपा के लिए सद्भावना बढ़ाई जाएगी जो वंचित हैं वहीं अपने समर्थकों को भी समझाने की कोशिश होगी कि सरकार की नजरों से वह ओझल नहीं हुए हैं। कार्यकर्ताओं से भी संवाद बढ़ेगा और कोशिश होगी कि जनाधार के साथ-साथ वोट फीसद में बड़ी छलांग लगाई जाए।

पालघर और गोंदिया-भंडारा ने दिए पार्टी को नए सबक
महाराष्ट्र की दो लोकसभा सीटों के उप चुनाव में एक पर मिली जीत के कारण यहां उत्तर प्रदेश जैसी किरकिरी होने से भले बच गई हो, लेकिन ये चुनाव 2019 के लिए भाजपा को कई नए सबक सिखा गए हैं। भाजपा ने मुंबई से सटी पालघर लोकसभा सीट 29,572 मतों से जीती और विदर्भ की भंडारा-गोंदिया सीट करीब 40,000 मतों से हार गई। भंडारा- गोंदिया राकांपा के दिग्गज नेता प्रफुल पटेल की परंपरागत सीट मानी जाती है। 2014 में

प्रफुल पटेल प्रबल मोदी लहर के कारण यह सीट बड़े अंतर से हार गए थे, लेकिन भाजपा के टिकट पर जीते नाना पटोले ने कुछ माह पहले लोकसभा सदस्यता एवं भाजपा दोनों छोड़ दी। फलस्वरूप उप चुनाव हुए। इसमें राकांपा ने मधुकर कुकड़े को उम्मीदवार बनाया और कांग्रेस में शामिल हो चुके नाना पटोले ने भी उन्हें समर्थन दिया।नतीजन भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। पालघर की लड़ाई ज्यादा सुर्खियों में थी। यहां भाजपा सांसद चिंतामणि वनगा के निधन के कारण उप चुनाव हो रहा था। वनगा के पुत्र श्रीनिवास वनगा को टिकट भाजपा के बजाय शिव सेना ने दिया था। भाजपा के उम्मीदवार थे पिछला चुनाव कांग्रेस के टिकट पर हार चुके राजेंद्र गावित। स्थानीय दल के रूप में काफी मजबूत मानी जाने वाले बहुजन विकास आघाड़ी के साथ-साथ कांग्रेस भी मैदान में थी। कांटे की लड़ाई में यह सीट भाजपा 29,572 मतों से निकालने में कामयाब रही। शिवसेना दूसरे स्थान पर रही। गौर करें, तो इस चुनाव में सर्वाधिक नुकसान कांग्रेस को ही हुआ है। भंडारा- गोंदिया में वह सिर्फ राकांपा के समर्थक दल की भूमिका में रही और पालघर में वह पांचवें स्थान पर जा गिरी। भाजपा के सामने मुख्य विपक्ष बनकर उभरी शिवसेना।

कैराना के नतीजे से चिंता में भाजपा, अब इस तरह विपक्षी एकजुटता को मिल सकता है जवाब

More News

9/21/2020 2:51:51 AM
तिकोना पार्क ऑटो मार्किट के दुकानदारों ने पुलिस प्रशासन के साथ की बैठक

Faridabad News, 21 Sep 2020: तिकोना पार्क ऑटो मार्किट के दुकानदारों ने सोमवार को पुलिस प्रशासन के साथ बैठक की। जिसमे दो नंबर पुलिस चौकी के इंचार्ज प्रकाश कुमार के साथ मार्किट को लेकर चर्चा की। चौकी इंचार्ज ने सभी दु Read More...

9/20/2020 6:37:59 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु कहलायेगा : मूलचंद शर्मा

FARIDABAD NEWS. 20 SEP 2020 :  भारत के यशश्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे जनसेवा के दौरान आज सेक्टर 19 में जिला भाजपा द्वारा विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया । इस म Read More...

9/20/2020 5:20:38 AM
सामाजिक कार्यकर्ता ही, महापुरुषों के आंदोलन को रखते हैं जीवित : लक्ष्य       

NEW DELHI NEWS. 20 SEP 2020 :     लक्ष्य की युथ टीम ने लक्ष्य युथ कमांडर शैलेन्द्र आर्या के नेतृत्व में " हर कोई कांशीराम- घर घर कांशीराम" अभियान के तहत एक सामाजिक चर्चा का आयोजन सीतापुर के ब्ल Read More...

9/20/2020 5:17:14 AM
आर्यन्स फाउंडेशन ने लगाया रक्तदान शिविर,धर्मबीर भड़ाना ने बढ़ाया रक्तदाताओं का हौसला

Faridabad News, 20 Sep 2020:  आर्यन्स फाउंडेशन द्वारा रोटरी क्लब ऑफ दिल्ली साउथ सेंट्रल के सहयोग से थैलीसीमिया पीडि़त बच्चों के लिए चावला कॉलोनी, बल्लभगढ़ में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 61 यूनिट रक्त एकत्रित किया Read More...

9/20/2020 5:17:02 AM
नई शिक्षा नीति को लेकर मंच आयोजित करेगा विचार गोष्ठी

FARIDABAD NEWS 20 SEP 2020 :  हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को निजीकरण एवं व्यवसायीकरण को बढ़ावा देने बाला बताया है। मंच ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सकारात्मक एवं नकारात्मक पहलुओं की जानकारी Read More...

9/20/2020 5:10:25 AM
फरीदाबाद में आज मिले कोरोना के 203 नए केस

Faridabad News, 20 Sep 2020:  उप सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डॉ. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 108214 लोगो को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जिनमें से 64734 लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा ह Read More...

9/20/2020 5:01:13 AM
देश में अन्नदाताओं के खिलाफ षड्यंत्र रचकर भाजपा सरकार ने किया किसानों की आत्मा पर प्रहार: कुमारी सैलजा

Chandigarh News, 20 Sep 2020 : हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने रविवार को राज्यसभा में पास हुए कृषि बिलों को लेकर कहा कि देश के इतिहास में आज के दिन को काले दिन के रूप में गिना जाएगा। कृषि प्रधान भारत देश में अन्नदाताओं के Read More...

9/20/2020 4:52:36 AM
हेल्थ कैप्सूल पाँली क्लीनिक का शुभारंभ

Faridabad News, 20 Sep 2020 :  एनआईटी पांच मुख्य बाजार में रविवार को हेल्थ कैप्सूल पॉली क्लीनिक का शुभारंभ एशियन अस्पताल के एमडी डॉ. एनके पांडे और आईएमए की प्रधान डॉ. पुनिता हसीजा  ने किया। क्लीनिक में एक ही छत के नीचे स Read More...